विवाह में देरी? वास्तु दोष तो नहीं…

क्या विवाह योग्य युवाओं का विवाह नहीं हो रहा है? यदि उनका ज्योतिष और व्यवहारिक पक्ष दोनों उत्तम है फिर भी विवाह में अड़चन आ रही है तो कहीं वास्तुदोष तो कारण नहीं है?
यहां वास्तु संबंधी कुछ उपाय बताए जा रहे हैं जिनका प्रयोग करने पर शीघ्र विवाह के योग बन सकते हैं-

– विवाह योग्य युवाओं का कमरा उत्तर दिशा या उत्तर-पूर्व दिशा या उत्तर पश्चिम दिशा में होना चाहिए।
– सोते समय युवाओं को पैर उत्तर की ओर तथा सिर दक्षिण की ओर रखना चाहिए।
– अविवाहितों के कमरे का रंग गुलाबी, पीला या सफेद होना चाहिए।
– युवाओं के कमरे में एक से अधिक दरवाजे होने चाहिए।
– विवाह योग्य लड़के-लड़कियां अधूरे बने कमरे में बिलकुल ना रहें।
– लड़के-लड़कियों के कमरे में काले रंग की कोई वस्तु ना रखें।
– कमरे में बीम लटका हुआ दिखाई नहीं देना चाहिए।
– कमरे की पूर्व-उत्तर दिशा में पानी का फव्वारा रखें।
– कक्ष की उत्तर दिशा में क्रिस्टल बॉल, कांच की प्लेट रखें।
– मांगलिक व्यक्ति को अपने कक्ष के दरवाजे का रंग लाल या गुलाबी रखना चाहिए। क्योंकि लाल रंग मंगलदेव का पसंदीदा रंग है।
– विवाह योग्य व्यक्ति का कमरा दक्षिण या दक्षिण पश्चिम दिशा में नहीं होना चाहिए।
– कमरे में कोई भी खाली बर्तन ना रखे।
– अविवाहित व्यक्ति के पलंग के नीचे कोई भी भारी वस्तु या लोहे की वस्तु कतई ना रखें।

|| जय माता दी ||
|| ज्योतिषाचार्या विनीता ||
====================================================
मिलये ज्योतिषाचार्या विनीता जी से हर मंगलवार कम शुल्क11253231_930872866958986_5384425673958989986_n में |
Appointment के लिए सम्पर्क करे:- +91-9643222803, +91-9643222802, +91-9212621221,
+91-9612721221
==================================================
पाइये अपनी सभी समस्याओं का समाधान Truth Of Life से सर्व कार्य सिद्धि यन्त्र के साथ |
सम्पर्क करे:- +91-9643222803, +91-9643222802, +91-9212621221,
+91-9612721221

Advertisements

हर प्रकार के वास्तुदोष को कम करता है यह उपाय

वास्तु अनुसार बनाए गए घर में पंच तत्व संतुुलित होते हैं। जिसकी वजह से घर में रहने वाले सदस्यों को हर प्रकार से लाभ पहुंचाते हैं। लेकिन लाख कोशिश करने के बावजूद भी मकान को पूरी तरह से वास्तुदोष मुक्त रख पाना नामुमकिन होता है। कभी जगह की कमी, तो कभी सी सही दिशा का प्लाॅट नहीं होना । तो कभी प्लाॅट का आकार सही नही होना । जिस कारण अपनी इच्छा के अनुसार निर्माण नहीं करा पाते हैं। और वजह मकान में वास्तुदोष बनता हैं। चाहे बेडरूम गलत दिशा में बना हो या चाहे बाथरूम गलता दिशा में बना हो। लेकिन ये एक उपाय ऐसा है जो कि हर प्रकार के वास्तुदोष के प्रभाव को कम करने की क्षमता रखता है।

वो उपाय है – घर में वास्तुदोषनाशक यंत्र को स्थापित करना। वास्तुदोष नाशक यंत्र को घर में किस प्रकार सथापित किया जाए व कहां इसे रखा जाए जानते हैं इसी बारे में

वास्तुदोष नाशक यंत्र का पूजन

यंत्र में वास्तुमंडल में निवास करने वाले देवतओं को स्थान दिया गया है। घर में पूजा के समय पर वास्तुदोष नाशक यंत्र का भी पूजन किया जाना चाहिए। । जिसके लिए किसी शुभ मूहुर्त में वास्तुदोष नाशक यंत्र घर ले आएं। यह यंत्र को दूध व जल से साफ करें। अब एक सूखे कपड़े से यंत्र को पोंछ दें। पूर्व या उत्तर की ओर मुख कर बैठे। । एक पाटा लें। पाटे पर कपड़ा बिछाएं। अब वास्तुदोष नाशक यंत्र को पाटे पर रख दें। दीपक प्रज्वलित करें। धूप करें। फूल अर्पित करें। । नीचे दिए गए मंत्र को 108 बार जपे। दूसरे दिन यह यंत्र पूजन घर में स्थापित कर दें। वास्तुदोष के प्रभाव में कमी आती है।

मंत्र इस प्रकार है- ऊँ वास्तुदेवताभ्यो नमः ।

|| जय माता दी ||
|| ज्योतिषाचार्या विनीता ||
===================================================
मिलये ज्योतिषाचार्या विनीता जी से हर मंगलवार नि:शुल्क Delhi में |
Appointment के लिए सम्पर्क करे:- +91-9643222803, +91-9643222802, +91-9212621221,
+91-9612721221
==================================================
पाइये अपनी सभी समस्याओं का समाधान Truth Of Life से सर्व कार्य सिद्धि यन्त्र के साथ |
सम्पर्क करे:- +91-9643222803, +91-9643222802, +91-9212621221,
+91-961272122111027963_931500996896173_3551247974914543484_n